Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

अमेरिका और चीन के बीच छिड़ा ट्रेड वार

पिछले कई दिनों से दुनिया की शीर्ष दो अर्थव्यवस्थाओं अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक मुद्दों को लेकर जवाबी हमले तेज हो गये हैं। इससे दोनों देशों में ट्रेड वार जैसी स्थिति बन चुकी है। इससे दुनिया भर के देशों के शेयर मार्केट में तेजी से गिरावट आयी है।

अमेरिका ने 6 जुलाई को चीन से आयात होने वाले मालों पर 25 प्रतिशत अर्थात 34 बिलियन डॉलर का शुल्क लगा दिया है, जिसको देखते हुये चीन ने जवाबी हमले में इतने ही मूल्य का टैरिफ अमेरिकी सामानों पर लगाने की घोषणा की है। वहीं अमेरिका ने कहा है कि कुछ दिनों बाद 16 बिलियन डॉलर के अन्य सामानों पर भी शुल्क लगाया जायेगा। डोनाल्ड ट्रंप ने एक आधिकारिक बयान में यह भी आशा जतायी है कि हम चीन पर 500 बिलियन डॉलर तक टैरिफ लगा सकते हैं।

चीन के एक आधिकारिक बयान के मुताबिक अमेरिका व्यापारिक शान्ति और नियंत्रण के लिये बनाये गए विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के नियमों की अवहेलना कर रहा है। हम अमेरिका की ओर से दी जा रही ट्रेड वार की धमकियों से भयभीत होने वाले नहीं हैं।