Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

हॉकी चैम्पियन्स ट्रॉफी

ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार खिताब पर जमाया कब्जा

पेनाल्टी शूटआउट में भारत को मिली 3-1 से हार

ब्रेडा, नीदरलैंड्स में हॉकी चैम्पियन्स ट्रॉफी का 37वां और आखिरी सत्र खेला गया, जिसमें ऑस्ट्रेलियाई टीम ने खिताब पर कब्जा जमाया। यह ऑस्ट्रेलिया का 15वां खिताब था। खिताबी मुकाबले में दोनों टीमों ने शानदार प्रदर्शन किया। ऑस्ट्रेलिया के गोवर्स ने 24वें मिनट में गोल करके टीम को बढ़त दिलाई, जिसके जवाब में 42वें मिनट में भारत के विवेक प्रसाद ने गोल करके टीम का स्कोर बराबर किया। इसके बाद पेनाल्टी शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 3-1 से हराया। शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया के लिए जेलेवस्की, बीले और जेरेमी एडवर्ड ने गोल किए, जबकि भारत के लिए मनप्रीत सिंह ने एकमात्र गोल दागा। भारत की ओर से सरदार सिंह, ललित उपाध्याय और हरमनप्रीत सिंह गोल करने से चूक गये।

पेनाल्टी कॉर्नर भुना नहीं
पाई भारतीय टीम

भारतीय टीम को मुकाबले के पहले क्वार्टर में दो पेनल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन टीम इसका फायदा नहीं उठा सकी। दूसरे हाफ में 33वें मिनट में भारत को अपना चौथा पेनल्टी कॉर्नर हासिल हुआ, लेकिन मनप्रीत इस मौके को भुना नहीं पाए। 37वें मिनट में भारत ने पेनल्टी के लिए रेफरल मांगा, लेकिन उसका यह रेफरल खारिज कर दिया गया। भारत के पास 54वें मिनट में बढ़त लेने का मौका था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के गोलकीपर ने इसका शानदार बचाव कर भारतीय टीम को बढ़त नहीं लेने दी।

  • भारत के पीआर श्रीजेश बने गोलकीपर ऑफ द टूर्नामेंट।
  • भारत एक बार भी नहीं जीत पाया हॉकी चैम्पियन्स ट्रॉफी।
  • 2016 में भी ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराकर जीता था यह खिताब।