Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh

रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस लेगा

यांमार ने उन पांच लाख रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस लेने का प्रस्ताव दिया है जो हिंसा भड़काने के बाद भागकर बांग्लादेश में दाखिल हुए हैं।

म्यांमार और शरणार्थियों की वापसी में समन्वय के लिए एक कार्यसमूह के गठन पर सहमति जताई है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए.एच. महमूद अली ने म्यांमार के वरिष्ठ प्रतिनिधि क्यावविन्ट स्वे के साथ बातचीत के बाद यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सकारात्मक माहौल में हुई वार्ता में रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस म्यांमार में लेने का प्रस्ताव दिया गया। इस प्रक्रिया की निगरानी के लिए एक संयुक्त कार्य समूह का गठन करने पर भी सहमति बनी है। संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के प्रमुख ने कहा कि म्यांमार, दक्षिणी सूडान और दूसरे स्थानों पर हिंसा के कारण इस साल 20 लाख से अधिक लोगों को शरणार्थी का जीवन जीने के लिये मजबूर होना पड़ा। 2016 के आखिर तक दुनिया भर में अपने घर को छोड़ने को मजबूर हुए लोगों की संख्या 6.56 करोड़ थी और इनमें से 2.25 करोड़ लोग पंजीकृत शरणार्थी हैं।