Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की अपील

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने प्रदेश के नागरिकों से निर्भय होकर अपने मताधिकार का प्रयोग करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि विधानसभा चुनाव के सिलसिले में गुरूवार 27 नवंबर को होने वाले मतदान की व्यापक तैयारियाँ हो चुकी हैं। सभी 230 निर्वाचन क्षेत्रों में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री माथुर ने कहा है कि प्रदेश के सभी नागरिकों को मताधिकार के अपने संवैधानिक अधिकार का प्रयोग अवश्य करना चाहिए। उन्होंने कहा है कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किए गए मतदाता फोटो परिचय पत्र (ऐपिक) रखने वाले और इसके बगैर आयोग द्वारा पहचान के लिए निर्धारित 13 वैकल्पिक दस्तावेजों के आधार पर मतदान करने वालों के लिए इस बार दो अलग-अलग कतारें लगाई जा रही हैं। ऐपिक वाले मतदाताओं को यद्यपि मतदान में प्राथमिकता रहेगी लेकिन इसके बगैर मतदान करने वालों को बारी-बारी से आधा घंटे के अंतराल पर मतदान की सुविधा दी जा रही है। श्री माथुर ने यह भी साफ किया है कि चुनाव आयोग चाहता है कि हर वास्तविक मतदाता को मतदान का अधिकार मिले, लेकिन ऐसे मतदाता की आड़ में फर्जी मतदान किसी को नहीं करने दिया जाएगा। इसके लिए खास ऐहतियात और चौकसी के इंतजाम किए गए हैं।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री जे.एस. माथुर ने शराराती, असामाजिक या निहित स्वार्थी तत्वों को आगाह किया है कि वे मतदान के दिन ऐसी कोई हिमाकत नहीं करें जो इस बार उनके लिए बड़ी जोखिम बन जाए। ऐसे तत्वों पर सतत और पैनी नज़र रखी जा रही है। उन्होंने चुनाव कार्य में तैनात सरकारी अमले से भी पूरी निष्पक्षता सेर् कत्तव्य निर्वहन की अपील की है।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने प्रदेश के नागरिकों से चुनाव प्रक्रिया के स्वतंत्र और निष्पक्ष संचालन में सहयोग करने की अपेक्षा की है।

योगेश शर्मा