Department of Public Relation:Government of Madhya Pradesh
25 जिलों के 63 निर्वाचन क्षेत्रों में लगेंगी आयोग ने दी इजाजत

प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में 15 अतिरिक्त इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों का इंतजाम किया जा रहा है। इन्हें 25 जिलों के ऐसे 63 निर्वाचन क्षेत्रों में लगाया जाएगा जहाँ चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की तादाद 16 से ज्यादा है। आयोग ने राज्य निर्वाचन दफ्तर से भेजे गए इस प्रस्ताव को मंजूर कर लिया है और उसके आदेश के मुताबिक ये मशीनें महाराष्ट्र से लायी जा रही हैं।
इस सिलसिले में मुरैना जिले के तीन निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 627, भिण्ड जिले के पाँच विधानसभा क्षेत्रों के लिए 1640, ग्वालियर जिले के तीन विधानसभा क्षेत्रों के लिए 586, दतिया जिले के तीन विधानसभा क्षेत्रों के लिए 583, शिवपुरी जिले के पाँच विधानसभा क्षेत्रों के लिए 1425, गुना जिले के दो विधानसभा क्षेत्रों के लिए 404, टीकमगढ़ जिले के पाँच विधानसभा क्षेत्रों के लिए 985, छतरपुर जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों के लिए 875, पन्ना जिले के दो विधानसभा क्षेत्रों के लिए 515, सतना जिले के पाँच विधानसभा क्षेत्रों के लिए 1080, रीवा जिले के सात विधानसभा क्षेत्रों के लिए 1409, सीधी जिले के दो विधानसभा क्षेत्रों के लिए 392, सिंगरौली जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 166, शहडोल जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 267, अनूपपुर जिले के दो विधानसभा क्षेत्रों के लिए 398, कटनी जिले के तीन विधानसभा क्षेत्रों के लिए 704, जबलपुर जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 240, मण्डला जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 327, बालाघाट जिले के दो विधानसभा क्षेत्रों के लिए 463, सिवनी जिले के तीन विधानसभा क्षेत्रों के लिए 1164, बैतूल जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 234, रायसेन जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 234, भोपाल जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 185, सीहोर जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 232 और राजगढ़ जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के लिए 271 अतिरिक्त इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों का इंतजाम किया गया है।
25 जिलों में 16 से ज्यादा उम्मीदवार वाले मतदान केन्द्रों की कुल संख्या 12 हजार 679 है और इनके लिए कुल 12 हजार 904 बैलट यूनिट की जरूरत होगी। इसके 10 प्रतिशत हिसाब से 1290 अतिरिक्त मशीनों का इंतजाम भी किया जा रहा है।

योगेश शर्मा