social media accounts







सक्सेस स्टोरीज

जगदीश ने स्वयं के पैसे मिलाकर बनाया सुंदर प्रधानमंत्री आवास

भोपाल : बुधवार, फरवरी 28, 2018, 17:05 IST

  प्रधानमंत्री आवास योजना में हितग्राही को आवास बनाने के लिये एक लाख 20 हजार रूपये, शौचालय निर्माण के लिये 15 हजार तथा स्वयं मजदूरी करने पर मनरेगा के माध्यम से 15 हजार रूपये; इस तरह कुल डेढ़ लाख रूपये की राशि दी जाती है। इस राशि में हितग्राही को 267 वर्गफीट में सीमेन्ट-कांक्रीट की छत डालकर घर बनाना होता है, जिसमें एक कमरा, शौचालय, रसोई आदि शामिल हैं। उज्जैन जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना में स्वीकृति की सूची में नाम आते ही हितग्राही उत्साहित हो रहे हैं और स्वयं के पैसे मिलाकर बहुत ही सुन्दर एवं आकर्षक आवास का निर्माण कर रहे हैं।

 इसी तरह के हितग्राही हैं ग्राम बाढ़कुमेद के जगदीश। इन्हें वर्ष 2016-17 में प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत किया गया। कच्चे घर में रहने वाले जगदीश ने विचार किया कि सरकार जब घर बनाने के लिये डेढ़ लाख रूपये दे रही है तो उन्हें भी इसमें कुछ राशि मिलाना चाहिये। छत बनने के बाद जब फिनिशिंग का टाइम आया तो घरवालों ने कहा कि घर जीवन में एक बार ही बनता है। इसलिये घर में आधुनिक टाईल्स लगाई जाये और बेहतरीन रंग-रोगन किया जाये। उनके घरवालों ने इसमें सहभागिता की और जगदीश ने हिम्मत करके अपनी ओर से अपनी कमाई का पैसा इसमें लगा दिया। नतीजतन अत्याधुनिक ढंग से बना हुआ इनका आकर्षक मकान मोहल्ले में अब अलग ही नजर आता है। लोग सहज विश्वास नहीं करते हैं कि यह प्रधानमंत्री आवास होगा। जगदीश से प्रेरणा लेकर आसपास के कई गांवों में बहुत ही सुन्दर मकान बन गये हैं।

उल्लेखनीय है कि उज्जैन जिले में 9,937 प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत किये गये हैं। स्वीकृत शत-प्रतिशत आवासों के लिये धन राशि की प्रथम किश्त जारी कर दी गई है तथा 9197 आवास पूर्ण हो चुके हैं। अपूर्ण 740 आवासों में से सभी का कार्य प्रगति पर है एवं 31 मार्च तक सभी आवास पूर्ण कर लिये जायेंगे।

सक्सेस स्टारी (उज्जैन)


दुर्गेश रायकवार
जिसका कोई नहीं, उसकी सरकार है न......
बेरोजगार सुरेन्द्र बन गया लखपति काश्तकार
प्रधानमंत्री आवास योजना से राजेश को भी मिला है पक्का मकान
बच्ची के चौंकने से रोये नाना-नानी, बजीं तालियाँ
कृषि उत्पादन बढ़ाने में सहायक सिद्ध हुए सोलर पम्प
पशु प्रजनन कार्यक्रम से बढ़ रहा है दुग्ध उत्पादन
सफेद मूसली की खेती से लखपति हुए कैलाशचन्द्र
आजीविका मिशन से जरूरतमंदों को मिला संबल
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क से आसान हुआ नर्मदा स्नान
अबकी बरसात नहीं टपकेगा मंजू का घर
वृद्धा शगुना बाई को घर पर मिली अंत्येष्टि और अनुग्रह सहायता राशि
सीताफल और मुनगा ने राजकुमार और रामकृष्ण को बनाया प्रगतिशील किसान
मशरूम की खेती और मधुमक्खी पालन से उन्नतशील कृषक बने लक्ष्मणदास
पक्का मकान मिलने से नायजा और मीना को मिला सम्मान
रोजगार मेले में युवाओं की रोजगार पाने की हसरत हुई पूरी
मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना से मासूम महक को मिली बोलने-सुनने की शक्ति
मुख्यमंत्री बाल हृदय योजना से श्रमिक की बेटी को मिली नई जिन्दगी
मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना से गदगद हैं किसान
बेटी बाई के खेत में समय पर पर्याप्त पानी दे रहा है सोलर पम्प
रोजगार मेला में नौकरी पाकर खिले युवाओं के चेहरे
शालिनी को अब नहीं है नौकरी की दरकार
काव्या को मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना से मिली दिल की धड़कन
बैक्टिरिया और फंगस से बनी किफायती खाद से पौधे बनेंगे स्मार्ट और इंटेलिजेन्ट
गिरीजा और मीना बनी पशुपतिनाथ मंदिर की पहरेदार
लेप्रोस्कोपिक हार्ट सर्जरी के बाद स्वस्थ है दीपशिखा
जरूरतमंदों की पक्की छत का सपना पूरा कर रही प्रधानमंत्री आवास योजना
प्रधानमंत्री योजना में मिले घर से होगी रामबाई की बेटी की शादी
विदेश अध्ययन से प्राप्त ज्ञान का वायरस रहित मिर्च उत्पादन में भरपूर उपयोग कर रहे हैं महेंद्र
रामकन्या और प्रेम भैरव को मिला सपनों का घर
सौभाग्य योजना से काजल का घर हुआ रौशन
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 ...