| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट
discount coupon for cialis new prescription coupons cialis free coupon
article on abortion abortion debates dilation and curettage hysteroscopy
places to get an abortion vbmigration.com when was abortion legalized
when is the latest you can have an abortion abortion clinics in los angeles should abortion be illegal
free discount prescription card cialis coupon coupons for prescriptions
free printable cialis coupons coupons for drugs coupons cialis
what is naltrexone saveapanda.com naltrexone liver damage

  
ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2016

मध्यप्रदेश में इन्वेस्ट कर अपनी तरक्की के साथ प्रदेश की भी तरक्की करें

“मेक इन इंडिया” सेशन में उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल

भोपाल : रविवार, अक्टूबर 23, 2016, 13:22 IST

मध्यप्रदेश में इन्वेस्ट कर अपनी तरक्की के साथ प्रदेश की भी तरक्की करें। उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने यह बात ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के “मेक इन इंडिया” सेशन में कही। श्री शुक्ल ने कहा कि मेक इन इंडिया का मिशन ईज ऑफ डुइंग बिजनेस के बिना पूरा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि इसके लिये अधोसंरचना का विकास जरूरी है। प्रदेश में 24 घंटे बिजली उपलब्ध करवाई जा रही है। प्रदेश में ड्रायपोर्ट बनाये जा रहे हैं। अगले दो वर्ष में सभी संभागीय मुख्यालय फोर लेन सड़क से जुड़ जायेंगे। उन्होंने कहा कि इन्वेस्ट मध्यप्रदेश में लोगों का विश्वास बढ़ा है।

मुख्य सचिव श्री अन्टोनी डिसा ने कहा कि उद्योगों की सहूलियत के लिये श्रम कानूनों को सरल किया गया है। उन्होंने बताया कि 62 रजिस्टर को खत्म कर एक रजिस्टर बनाया गया है। सूक्ष्म उद्योगों को 9 श्रम कानून से छूट दी गई है। श्री डिसा ने बताया कि राज्य शासन के प्रयासों से विगत दो वर्ष में लगभग 2 लाख 75 हजार करोड़ रूपये का निवेश आया है। इसके साथ ही 100 औद्योगिक इकाई में उत्पादन भी इन वर्षों में शुरू हुआ है। उद्योगों के लिये अनुमति संबंधी प्रक्रियाओं में महत्वपूर्ण सुधार किये गये हैं। फाइव प्वाइंट टेस्ट की नीति बनाई गई है। लोक सेवा गारण्टी अधिनियम के माध्यम से निर्धारित समय में सेवाएँ दी जा रही हैं। इसका पालन नहीं करने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई की जा रही है। ईज ऑफ डुइंग बिजनेस के मामले में मध्यप्रदेश देश के टॉप पाँच राज्य में शामिल है। प्रदेश की जीडीपी डबल डिजिट में है। वर्तमान में सरप्लस में बिजली होने के साथ ही अगले दो वर्ष में सोलर और नवकरणीय ऊर्जा के माध्यम से एक हजार मेगावाट बिजली तैयार की जायेगी।

विश्व में ब्राइटेस्ट स्पाट इंडिया और इंडिया में मध्यप्रदेश

भारत सरकार के राजस्व सचिव डॉ. हसमुख अधिया ने कहा कि उद्योगों के लिए विश्व में ब्राइटेस्ट स्पाट इंडिया और इंडिया में मध्यप्रदेश है। उन्होंने बताया कि विश्व में सर्वाधिक ग्रोथ रेट भारत की है। मध्यप्रदेश ने विगत दस वर्ष में हर क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की है। डॉ. अधिया ने कहा कि सर्विस सेक्टर में रोजगार की बहुत संभावनाएँ हैं। टूरिज्म में तो असीम संभावनाएँ हैं। उन्होंने जीएसटी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। जीएसटी “मेक इन इंडिया” मिशन को सपोर्ट करेगा। मल्टीप्लिसिटी ऑफ टैक्सेस से छुटकारा मिलेगा। कोई चेक पोस्ट नहीं होगी। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन तीन दिन में होगा। टैक्स का इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट होगा। रिफंड के लिए ई-एप्लीकेशन दो वर्ष के भीतर देना होगा। रिफंड 90 दिन में स्वीकृत होकर सीधे खाते में जायेगा। ई-रिटर्न की सुविधा होगी। डॉ. अधिया ने कहा कि मध्यप्रदेश देश के मध्य में होने से लॉजिस्टिक हब बन सकता है। यहाँ से कहीं भी सामान ले जाना सरल होगा।

बनेंगे कॉमर्शियल बेंच और कोर्ट

केन्द्रीय सचिव इंडस्ट्रियल पॉलिसी एण्ड प्रमोशन श्री रमेश अभिषेक ने कहा कि सभी प्रदेश में कॉमर्शियल बेंच और कोर्ट बनाये जाएंगे। उन्होंने कहा कि इंडिया मैन्यूफेक्चरिंग हब के रूप में विकसित हो रहा है। भारत सरकार ने औद्योगीकीकरण बढ़ाने के लिये कई सुधार किये हैं। टैक्स पॉलिसी बदली गई है। जरूरी सुधार करने के साथ ही सुविधाएँ उपलब्ध करवाई जा रही हैं। श्री अभिषेक ने कहा कि मध्यप्रदेश में सिंगल विंडो के माध्यम से जरूरी अनुमतियाँ दी जा रही हैं। बिजनेस फ्रेण्डली माहौल बनाया गया है। बैंक सालवेन्सी संबंधी सुधार किये जा रहे हैं।

विश्व बैंक के प्रमुख अर्थशास्त्री श्री सेबस्टियन सेज ने कहा कि साऊथ एशिया के देशों में इंडिया तेजी से विकास कर रहा है। उन्होंने कहा कि एक्सपोर्ट की बहुत संभावनाएँ हैं। श्री सेज ने कहा कि विश्व बैंक स्किल अपग्रेडिंग और अन्य कार्यों में लॉजिस्टिक सपोर्ट देने के लिए तैयार है।

कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री के डायरेक्टर जनरल श्री चन्द्रजीत बेनर्जी ने कहा कि मेक इन इंडिया मिशन शुरू होने के बाद कई प्रदेशों ने औद्योगिक नीति में महत्वपूर्ण सुधार किये हैं। इससे उद्योग लगाने में सहूलियत हुई। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में इंस्पेक्टर राज्य समाप्त किया गया है। उन्होंने कनेक्टिविटी बढ़ाने और डिस्ट्रिक्ट लेवल फेसिलिटेशन सेन्टर बनाने सहित अन्य सुझाव दिये। सत्र का संचालन प्रमुख सचिव उद्योग श्री मोहम्मद सुलेमान ने किया।

 
ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट
discount coupon for cialis new prescription coupons cialis free coupon
article on abortion abortion debates dilation and curettage hysteroscopy
places to get an abortion vbmigration.com when was abortion legalized
when is the latest you can have an abortion abortion clinics in los angeles should abortion be illegal
free discount prescription card cialis coupon coupons for prescriptions
free printable cialis coupons coupons for drugs coupons cialis
what is naltrexone saveapanda.com naltrexone liver damage
पाँचवां वैश्विक निवेशक सम्मेलन अत्यधिक सफल
रु. 5,62,847 करोड़ के 2,630 निवेश आशय प्रस्ताव प्राप्त
निवेश के लिये मध्यप्रदेश सबसे अधिक पसंदीदा राज्य बना-विदेश मंत्री श्रीमती स्वराज
आर्थिक मंदी से जूझते विश्व में आशा की किरण है भारत
मध्यप्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा में निवेशकों के लिये अच्छी संभावनाएँ
केन्द्रीय मंत्री श्री नायडू ने की विकास-प्रिय राज्य सरकार की प्रशंसा
मध्यप्रदेश में इन्वेस्ट कर अपनी तरक्की के साथ प्रदेश की भी तरक्की करें
मध्यप्रदेश में इलेक्ट्रानिक्स, ऑटोमोबाइल तथा निर्माण क्षेत्र में निवेश की संभावनाएँ तलाशेगा कोरिया
मध्यप्रदेश अब देश का मुख्य प्रदेश
ड्रम्स ऑफ मध्यप्रदेश को राज्य संगीत की मिलेगी पहचान : मुख्यमंत्री श्री चौहान
जापान की लोकप्रिय टेक्नालॉजी का मध्यप्रदेश में विस्तार होगा
खाद्य प्र-संस्करण विकास के लिये राज्य शासन दृढ़ संकल्पित : मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन
मध्यप्रदेश में हर वर्ष 15-20 प्रतिशत बढ़ रही है पर्यटक संख्या
मध्यप्रदेश होगा ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का बेस्ट "डेस्टिनेशन
उद्योगपतियों ने मुख्यमंत्री श्री चौहान के ईमानदार प्रयासों की दिल से तारीफ की
स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह द्वारा जीवनरक्षक दवाइयाँ मध्यप्रदेश में बनाने की अपील
प्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज को प्रोत्साहन के लिये उद्योग नीति में विशेष प्रावधान
मध्यप्रदेश-यू.ए.ई. में निवेश संभावनाओं पर संयुक्त चर्चा
ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जुड़ेगी देश की सभी ग्राम पंचायत
ब्राण्ड मध्यप्रदेश का आधार - श्री शिवराजसिंह चौहान का मधुर व्यवहार
उद्योगपतियों द्वारा मध्यप्रदेश के विकास की भरपूर सराहना
मध्यप्रदेश बनेगा देश का सप्लाई हब - केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली
6 लाख 89 हजार करोड़ रूपये के निवेश प्रस्ताव आये
मध्यप्रदेश में आईटी के क्षेत्र में अच्छा काम हुआ
"पीपीपी मॉडल-स्विस चेलेंज की चुनौतियाँ" सेक्टोरल सेमीनार
मध्यप्रदेश में टेक्सटाइल्स इंडस्ट्री में निवेश करने में मिलेंगे अच्छे परिणाम
प्रदेश की पर्यटन और भूमि निवर्तन नीति में हुए प्रभावी संशोधन
स्मार्ट सिटी के लिये बेहतर प्लानिंग जरूरी
मध्यप्रदेश नवकरणीय ऊर्जा क्षेत्र का नया पावर हब होगा
स्मार्ट सिटी निवेशकों के लिये बेहतर मौका
1 2 3 4