| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट

  
ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट-2016

स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह द्वारा जीवनरक्षक दवाइयाँ मध्यप्रदेश में बनाने की अपील

दवा निर्माताओं को लायसेंस जारी करने देश की पहली वेबसाइट आरंभ
मध्यप्रदेश में होता है प्रतिवर्ष 10 हजार करोड़ रूपये का दवा व्यापार

भोपाल : शनिवार, अक्टूबर 22, 2016, 18:59 IST

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रूस्तम सिंह ने ग्लोबल इन्वेस्टर समिट के फार्मास्युटिकल सत्र में दवा निर्माता कम्पनियों से हृदय, लीवर, केन्सर आदि रोगों की जीवनरक्षक दवाएँ देश, विशेष रूप से मध्यप्रदेश में ही बनाने की अपील की। श्री सिंह ने कहा कि इससे अमेरिका आदि देशों से आने वाली दवाओं में लगने वाला समय बचेगा। लागत लगभग आधी हो जायेगी और समय पर दवा मिलने से कितने ही मरीजों के प्राण बच सकेंगे।

सत्र में खाद्य एवं औषधि विभाग द्वारा निर्मित 'सृजन' वेबसाइट का भी शुभारंभ किया गया। इससे दवा निर्माताओं को लायसेंस जारी करने सहित सारे काम आसानी से एक ही जगह करने की सुविधा मिलेगी। मध्यप्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है, जिसने यह ऑनलाइन सुविधा शुरू की है।

मध्यप्रदेश में हर वर्ष 10 हजार करोड़ रूपये का दवा व्यापार होता है, एक लाख लोगों को रोजगार मिल रहा है और 1.5 बिलियन की दवाएँ निर्यात की जाती हैं। यहाँ 280 से अधिक दवा बनाने की इकाइयाँ हैं। वायु, सड़क और रेल मार्ग से बेहतर जुड़ाव के कारण मध्यप्रदेश में दवा निर्माता कम्पनियाँ स्थापित करने की इच्छा रखती हैं। इंदौर दवा निर्माण में न केवल एशिया में अग्रणी है, बल्कि इंदौर का दवा बाजार देश का सबसे बड़ा ट्रेड हाउस है। इंदौर के विमानतल को उद्योग जगत की सुविधा के लिये अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बनाया जा रहा है। प्रदेश में फार्मेसी कॉलेज की संख्या वर्ष 2003 के 20 के मुकाबले 2014 में बढ़कर 111 हो चुकी है। इसी तरह छात्र संख्या भी 1150 से बढ़कर 8340 हो गई है।

भोपाल में खुलेगा एनआईपीईआर

केन्द्र सरकार ने भोपाल में नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ फार्मास्युटिकल एजुकेशन एण्ड रिसर्च खोलने की स्वीकृति प्रदान की है। संस्थान से दवा कम्पनियों को उच्च गुणवत्ता का मानव संसाधन मिलेगा।

कौशल विकास और म.प्र. स्मॉल स्केल ड्रग मेन्यूफेक्चरर्स के बीच हुआ एमओयू

प्रदेश में नई टेक्नोलॉजी लाने एवं छात्रों को इंडस्ट्रीज की आवश्यकतानुसार तैयार करने तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग तथा म.प्र. स्माल स्केल ड्रग मैन्यूफेक्चरर्स ड्रग्स एसोसिएशन के बीच एक एमओयू भी हुआ। तकनीकी शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री श्री दीपक जोशी ने बताया कि इससे छात्रों को विभिन्न क्षेत्रों की अतिरिक्त तकनीकी जानकारी उपलब्ध हो सकेगी। इसमें छात्रों को फिटर, इलेक्ट्रीशियन, इन्सट्रूमेंट टर्नर, फोर व्हीलर मोटर मेकेनिक, मशीन आपरेटर, यूटिलिटी आपरेटर, लेब असिस्टेंट, बॉयलर आपरेटर, कारपेंटर आदि का प्रशिक्षण दिया जायेगा। श्री जोशी ने कहा कि विशेषज्ञों के सान्निध्य में तकनीकी शिक्षा मिलने से प्रशिक्षणार्थी के लिये बेहतर रोजगार के द्वार खुलेंगें। सत्र को चिकित्सा शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) राज्य मंत्री श्री शरद जैन ने भी संबोधित किया।

सत्र में मुख्य सचिव श्री अंटोनी डिसा, अपर मुख्य सचिव श्री प्रभांशु कमल, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्रीमती गौरी सिंह, प्रमुख सचिव उच्च एवं तकनीकी शिक्षा श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव, भारत सरकार के संयुक्त दवा नियंत्रक डॉ. वी.जी. सोमानी, स्वास्‍थ्‍य आयुक्त एवं खाद्य एवं औषधि प्रशासक डॉ. पल्लवी जैन गोविल, सन फार्मास्युटिकल्स इंडस्ट्रीज के संस्थापक डॉ. दिलीप संघवी, देश-प्रदेश और विदेश के दवा निर्माता उपस्थित थे।

 
ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट
पाँचवां वैश्विक निवेशक सम्मेलन अत्यधिक सफल
रु. 5,62,847 करोड़ के 2,630 निवेश आशय प्रस्ताव प्राप्त
निवेश के लिये मध्यप्रदेश सबसे अधिक पसंदीदा राज्य बना-विदेश मंत्री श्रीमती स्वराज
आर्थिक मंदी से जूझते विश्व में आशा की किरण है भारत
मध्यप्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा में निवेशकों के लिये अच्छी संभावनाएँ
केन्द्रीय मंत्री श्री नायडू ने की विकास-प्रिय राज्य सरकार की प्रशंसा
मध्यप्रदेश में इन्वेस्ट कर अपनी तरक्की के साथ प्रदेश की भी तरक्की करें
मध्यप्रदेश में इलेक्ट्रानिक्स, ऑटोमोबाइल तथा निर्माण क्षेत्र में निवेश की संभावनाएँ तलाशेगा कोरिया
मध्यप्रदेश अब देश का मुख्य प्रदेश
ड्रम्स ऑफ मध्यप्रदेश को राज्य संगीत की मिलेगी पहचान : मुख्यमंत्री श्री चौहान
जापान की लोकप्रिय टेक्नालॉजी का मध्यप्रदेश में विस्तार होगा
खाद्य प्र-संस्करण विकास के लिये राज्य शासन दृढ़ संकल्पित : मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन
मध्यप्रदेश में हर वर्ष 15-20 प्रतिशत बढ़ रही है पर्यटक संख्या
मध्यप्रदेश होगा ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का बेस्ट "डेस्टिनेशन
उद्योगपतियों ने मुख्यमंत्री श्री चौहान के ईमानदार प्रयासों की दिल से तारीफ की
स्वास्थ्य मंत्री श्री रूस्तम सिंह द्वारा जीवनरक्षक दवाइयाँ मध्यप्रदेश में बनाने की अपील
प्रदेश में टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज को प्रोत्साहन के लिये उद्योग नीति में विशेष प्रावधान
मध्यप्रदेश-यू.ए.ई. में निवेश संभावनाओं पर संयुक्त चर्चा
ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जुड़ेगी देश की सभी ग्राम पंचायत
ब्राण्ड मध्यप्रदेश का आधार - श्री शिवराजसिंह चौहान का मधुर व्यवहार
उद्योगपतियों द्वारा मध्यप्रदेश के विकास की भरपूर सराहना
मध्यप्रदेश बनेगा देश का सप्लाई हब - केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली
6 लाख 89 हजार करोड़ रूपये के निवेश प्रस्ताव आये
मध्यप्रदेश में आईटी के क्षेत्र में अच्छा काम हुआ
"पीपीपी मॉडल-स्विस चेलेंज की चुनौतियाँ" सेक्टोरल सेमीनार
मध्यप्रदेश में टेक्सटाइल्स इंडस्ट्री में निवेश करने में मिलेंगे अच्छे परिणाम
प्रदेश की पर्यटन और भूमि निवर्तन नीति में हुए प्रभावी संशोधन
स्मार्ट सिटी के लिये बेहतर प्लानिंग जरूरी
मध्यप्रदेश नवकरणीय ऊर्जा क्षेत्र का नया पावर हब होगा
स्मार्ट सिटी निवेशकों के लिये बेहतर मौका
1 2 3 4