social media accounts
दिनांक
विभाग
भोपाल : गुरूवार, जून 21, 2018, 20:16 IST

मध्यप्रदेश ने आदर्श उपार्जन का बनाया रिकॉर्ड

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपार्जन से जुड़े अधिकारियों की टीम को दी बधाई
उपार्जन व्यवस्था का मार्गदर्शी दस्तावेज तैयार होगा

 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में फसलों का उपार्जन अभूतपूर्व सफलता के साथ पूरा करने क़े लिए आज मंत्रालय में संबंधित विभागों के अधिकारियों को बधाई दी। श्री चौहान ने कहा कि गेहूँ, धान, चना, मूंग, सरसों की खरीदी करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य था। इसी बीच कई बड़े निर्णय लेना पड़े और कई कठिनाईयां भी आई। विषम परिस्थितियों के बावजूद सफल और शांतिपूर्ण उपार्जन मध्यप्रदेश के लिये बड़ी उपलब्धि है। इसके लिए उपार्जन से जुड़ी पूरी टीम की जितनी तारीफ की जाए कम है। सभी संबंधित विभागों ने रात-दिन मेहनत कर उपार्जन के काम को आदर्श स्थिति में लाने का सराहनीय काम किया है। यह सभी विभागों, एजेंसियों, किसानों के समन्वित प्रयासों से संभव हुआ।

श्री चौहान ने प्रदेश में स्थापित आदर्श उपार्जन की व्यवस्था का व्यवस्थित अध्ययन करने और एक मार्गदर्शी दस्तावेज़ बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अन्य राज्य भी मध्य प्रदेश की आदर्श उपार्जन व्यवस्था से प्रभावित है और  जानना चाहते है कि सफल उपार्जन की रणनीति जैसे बनती है। श्री चौहान ने कहा कि उपार्जन से जुड़ी संस्थाओं और किसानों का सहयोग और आपसी समन्वय हर स्तर पर सराहनीय रहा है। श्री चौहान ने मंडी, एन.आई.सी., एफ.सी.आई, नाफेड, सहकारी एवं सरकारी बैंको, आर.बी.आई., रेलवे, वित्त विभाग, सहकारिता, वेयरहाउसिंग कार्पोरेशन, नागरिक आपूर्ति निगम, खाद्य विभाग, मार्कफेड के अधिकारियों और मैदानी अमले को बधाई दी। उन्होंने  प्रशंसा प्रमाणपत्र देने के लिए भी कहा।

जिलों की मार्केटिंग योजना बनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों में कृषि उपज की मार्केटिंग के लिये कार्य योजना बनाने पर काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि उपार्जन की व्यवस्था को और ज्यादा प्रभावी बनाने के लिये सूचना प्रौद्योगिकी के अधिकाधिक उपयोग के संबंध में विशेषज्ञों की कार्यशाला भी बुलाई जाना चाहिये। इसके अलावा किसानों की आय को दोगुनी करने के लिये बेहतर उपायों पर निरंतर विचार विमर्श चलते रहना चाहिये। श्री चौहान ने बिहार और केरल में उपार्जन व्यवस्था का भी अध्ययन करने के निर्देश दिये।

किसानों को मिले 19 हजार 500 करोड़

उल्लेखनीय है कि रबी वर्ष 2018-19 में 96 लाख किसानों से 73.13 लाख मीट्रिक टन गेहूँ और 7.33 लाख किसानों से 19.2 लाख मीट्रिक टन चना, मसूर और सरसों का रिकॉर्ड उपार्जन किया गया है। किसानों को 19 हजार 500 करोड़ रूपये की राशि वितरित की गई है।

इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री बी.पी.सिंह, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री पी.सी. मीणा, प्रमुख सचिव कृषि डॉ. राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव खाद्य श्रीमती नीलम शमी राव, प्रमुख सचिव सहकारिता श्री के.सी. गुप्ता, प्रमुख सचिव श्री विवेक अग्रवाल, मंडी आयुक्त श्री फैज अहमद किदवई,  भारतीय खाद्य निगम के श्री अभिषेक यादव, नाफेड के श्री अभिषेक सिंह, एनआईसी के अब्राहिम वर्गिस एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

ए.एस.

राष्ट्रीय कृषि-मनरेगा समिति जुलाई माह तक प्रस्तुत करेगी कार्य-योजना
गरीबी हटाना मेरा संकल्प है, इसे अवश्य पूरा करूँगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
नागरिक योग से जुड़े रहने का संकल्प लें : मुख्यमंत्री श्री चौहान
पैसों के अभाव में कोई बच्चा शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान
गौ-संरक्षण के लिये गौ-शालाओं को 17 रुपये प्रति गाय अनुदान दिया जायेगा
मुख्यमंत्री श्री चौहान राष्ट्रीय कृषि और मनरेगा समिति के अध्यक्ष मनोनीत
परियोजनाओं के निर्माण कार्यों में विलम्ब करने वाले ठेकेदारों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही होगी : मुख्यमंत्री श्री चौहान
जनसंख्या वृद्धि के अनुपात में राज्यों की केन्द्रीय सहायता में वृद्धि की जाये
मुख्यमंत्री श्री चौहान केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री पीयूष गोयल से मिले
केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह से मिले मुख्यमंत्री श्री चौहान
पूर्व प्रधानमंत्री श्री वाजपेयी को देखने एम्स पहुँचे मुख्यमंत्री श्री चौहान
संबल योजना से गरीबों के कल्याण का नया आदर्श स्थापित करेगा मध्यप्रदेश
लोकतंत्र सेनानी संघ ने मुख्यमंत्री के प्रति व्यक्त किया आभार
पुराने शहर में ईद मिलने पहुँचे मुख्यमंत्री श्री चौहान
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ईदगाह पहुँच कर दी ईद की शुभकामनाएँ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी ईद की मुबारकबाद
हर बच्चे को अनिवार्य स्कूली शिक्षा देना समाज और सरकार की साझा जिम्मेदारी - मुख्यमंत्री श्री चौहान
गाँव, गरीब और किसान की बेहतरी में नियम-कानून बाधक नहीं होंगे : मुख्यमंत्री
केला उत्पादक किसानों को देय मुआवजा राशि में होगी साढ़े सात गुना वृद्धि
प्रदेश में आपदा प्रबंधन के लिए विशेष बल गठित होगा
1