दिनांक
विभाग
भोपाल : बुधवार, जनवरी 17, 2018, 20:22 IST

यात्रा ने तय की 243 किमी की दूरी और संचित किये 598 धातु पात्र

आदि शंकराचार्य एकात्म यात्रा

 

एकात्म यात्रा ने आज रतलाम, आगर-मालवा, शिवपुरी, होशंगाबाद, और बैतूल जिलों में 243 कि.मी दूरी तय करने के साथ 598 धातु पात्रों का संकलन किया।

रतलाम जिले में यात्रा का 20 गाँव-कस्बों में स्वागत हुआ जिसमें 800 लोगों ने भाग लिया। आगर जिले के 10 स्थानों पर पादुका पूजन और यात्रा का स्वागत हुआ। जिसमें 124 कलश यात्रा, 5 शोभा यात्रा, 65 उपयात्रा और 17 हजार लोग शामिल हुए। दोपहर को आगर में होने वाले जनसंवाद में सांसद श्री मनोहर ऊँटवाल, विधायक श्री मुरलीधर पाटीदार और श्री गोपाल सिंह परमार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलाबाई गुहाटिया ने सम्बोधित किया। शाम को आगर के नलखेड़ा में हुए मुख्य जनसंवाद में सांसद श्री मनोहर ऊँटवाल, विधायक श्री मुरलीधर पाटीदार और श्री गोपाल सिंह परमार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलाबाई गुहाटिया, श्री प्रेम राठौर और श्री दिलीप सकलेचा ने सम्बोधित किया1 यात्रा ने आज रतलाम जिले में 11 और आगर में 88 कि.मी की दूरी तय की। आगर में 317 धातु पात्रों का संकलन किया । स्कूली बच्चे महापुरूषों के वेशभूषा में शामिल हुए। जनजागरूकता के लिए 100 वाहनों की रैली निकाली गई।

शिवपुरी जिले में 12 गाँव-कस्बों और 25 शहरी क्षेत्रों में यात्रा का स्वागत और पादुका पूजन हुआ जिसमें 5 कलश यात्रा, एक शोभा यात्रा, 16 उपयात्रा और 10000 लोग शामिल हुए। दोपहर को शिवपुरी में हुए जनसंवाद में श्री परमानंद महाराज श्री राधे राधे महाराज श्री बालक महाराज पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष श्री तपन भौमिक, श्री राघवेन्द्र गौतम और श्री राजू बाथम ने भाग लिया। लोगों को स्वच्छता, बेटी बचाओं-बेटी पढ़ाओ, नशा मुक्ति अभियान, यात्रा के उद्देश्यों और आदि शंकराचार्य के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम में ध्रुवा बैण्ड ने लोक संगीत पेश किया। जिले में 75 धातु पात्रों का संकलन किया गया।

होशंगाबाद जिले में यात्रा का पाँच गाँव और पाँच शहरी क्षेत्रों में स्वागत कर पादुका पूजन किया गया। जिसमें 3 कलश यात्रा, 2 शोभा यात्रा, 50 उपयात्रा और 2500 लोग शामिल हुए। दोपहर को शोभापुर में और शाम को सोहागपुर में हुए मुख्य जनसंवाद में महामण्डलेश्व, अखिलेश्वरानंद, यात्रा समन्वयक श्री शिवचौबे, विधायक श्री विजयपाल सिंह और श्री ठाकुरदास नागवंशी, श्री हरिशंकर जायसवाल, श्री प्रदीप पटेल, श्रीमती अंजू अहिरवार और श्री संतोष मालवीय मौजूद थे। यात्रा ने जिले में 24 कि.मी की दूरी तय करने के साथ 67 धातु पात्रों का संकलन किया।

बैतूल जिले में 23 गाँव-कस्बों में यात्रा का स्वागत और पादुका पूजन किया गया,जिसमें 27 कलश यात्रा, 31 शोभा यात्रा, 146 उपयात्रा और तकरीबन 16000 लोग शामिल हुए। दोपहर को बैतूल के बालाजीपुरम मंदिर में हुए जनसंवाद में स्वामी मुक्तानंद, स्वामी बालकदासा, साधवी प्रज्ञा भारती, स्वामी गणेशगिरी, स्वामी सुदर्शन महाराज, सांसद श्रीमती ज्योति ध्रुर्वे, विधायक श्री चेतराम मानेकर और श्री चंद्रशेखर देशमुख, श्री अलकेश आर्य और सुधाकर पवार ने सम्बोधित किया। शाम को बैतूल के लालबहादुर शास्त्री स्टेडियम में हुए जनसंवाद में मुक्तानंद, स्वामी बालकदास, साध्वी प्रज्ञा भारती, स्वामी गणेशगिरी, स्वामी सुदर्शन महाराज, सांसद श्रीमती ज्योति ध्रुर्वे, विधायक श्री चेतराम मानेकर और श्री चंद्रशेखर देशमुख, श्री मंगल सिंह ध्रुर्वे, श्री हेमन्त खण्डेलवाल, श्री हेमन्त देशमुख, श्री अलकेश आर्य, श्री सुधाकर पवार और राज्य महिला आयोग की सदस्य श्रीमती गंगा उइके शामिल हुए। यात्रा ने जिले में 40 कि.मी की दूरी तय करने के साथ 139 धातु पात्रों का संकलन किया। यात्रा का स्वागत हवाई जहाज से 10 कि.मी तक पुष्प वर्षा करके किया गया।

सुनीता दुबे

आदि गुरु शंकराचार्य एकात्म यात्रा
यात्रा ने तय की 387 कि.मी की दूरी और संचित किये 386 धातु पात्र
पुरातत्ववेत्ता विष्णु श्रीधर वाकणकर पर केन्द्रित पुस्तक का हुआ लोकार्पण
आदि शंकराचार्य एकात्म यात्रा
431 कि.मी. यात्रा में शामिल हुए 6 जिलों के एक लाख लोग
ऋषि गालव व्याख्यान 17 जनवरी को ग्वालियर में
ग्वालियर में लोहड़ी महोत्सव 15 जनवरी को
मुरैना में स्वामी विवेकानन्द स्मृति समारोह 11-12 जनवरी को
एकात्म यात्रा की पूर्व संध्या पर 1.21 लाख दीप जलाकर कर रचा इतिहास
आठ दिवसीय "शिवलिंगम छाया-चित्र प्रदर्शनी 9 जनवरी से
आदि शंकराचार्य एकात्म यात्रा
उज्जैन में आज से तीन दिवसीय शैव महोत्सव
एकात्म यात्रा पहुँची टीकमगढ़,गुना, अलीराजपुर, झाबुआ, डिण्डोरी, मण्डला जिलो में
"एकात्म यात्रा पर 31 दिसम्बर को ग्वालियर में विशाल साइकिल रैली
पन्ना और जबलपुर जिले में हुए जन-संवाद
राज्य मंत्री श्री पटवा द्वारा गौहर महल में छह दिवसीय कॉर्निवाल का शुभारंभ
उर्दू डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश की अंतिम तिथि 30 जनवरी
मराठी साहित्य वेबसाइट पर उपलब्ध
टीकमगढ़ में 26-27 दिसम्बर को भूषण स्मृति समारोह
वेदान्त दर्शन के अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र के रूप में विकसित होगा ओंकारेश्वर : राज्यमंत्री श्री पटवा