दिनांक
विभाग
भोपाल : सोमवार, जनवरी 15, 2018, 20:32 IST

उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया ने 6 महाविद्यालयों के संचालकों को आदेश प्रतियाँ सौंपी

एक जुलाई 2018 से शिक्षण सत्र शुरू करने के लिये की गई है व्यवस्था

 

उच्च शिक्षा विभाग ने शिक्षण संस्थानों में एक जुलाई से शिक्षण सत्र प्रारंभ करने के लिये नई व्यवस्था की है। नई व्यवस्था के अनुसार प्रदेश में नवीन महाविद्यालय, महाविद्यालयों में नवीन विषय प्रारंभ करने और निरंतरता प्रस्ताव पर अनुमति देने के लिये ऑनलाइन प्रक्रिया प्रारंभ की गई है। प्रक्रिया को 30 जनवरी तक अनिवार्य रूप से पूरा कर लिया जायेगा।

नई व्यवस्था की श्रंखला में आज उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया ने 25 अशासकीय नवीन महाविद्यालय तथा नवीन विषय शुरू करने के आदेश संचालकों को सौंपे। आयुक्त उच्च शिक्षा श्री नीरज मण्डलोई ने बताया कि ऑनलाइन प्रक्रिया से महाविद्यालय के संचालकों को अनावश्यक रूप से चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे और अनुमति देने में भी विलम्ब नहीं होगा।

मुकेश मोदी

वेदान्त दर्शन परमात्मा के दर्शन का सशक्त मार्ग: मंत्री श्री पवैया
महाविद्यालयों में प्राचार्यों के पदों पर सीधी भर्ती होगी : उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया
दो माह में 2900 सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति होगी
छात्र-छात्राओं में नेतृत्व विकास में एन.एन.एस का महत्वपूर्ण योगदान: मंत्री श्री पवैया
मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना
युवाओं को रोजगार, कौशल और संस्कारयुक्त शिक्षा देने कि आवश्यकता
ज्ञान लोक मंगल की परम्परा है
माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय से पत्रकारिता के क्षेत्र में
लोक सेवा केन्द्र पर रोस्टर में प्राधिकार अधिकारी नियुक्त कर सकेंगे जिलाधीश
राज्य मंत्री श्री पाठक ने स्लीमनाबाद उप-तहसील भवन का किया लोकार्पण
भारत की संस्कृति कभी मिट नहीं सकती : उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया
बेनजीर कॉलेज का स्थान परिवर्तन इस सत्र हेतु स्थगित
निजी विश्वविद्यालयों को व्यावसायिक पाठयक्रमों को बढ़ावा देना होगा
अध्यादेश- परिनियमों पर सहमति सही दिशा में लिया गया कदम - राज्यपाल
गरीब विद्यार्थियों की उच्च शिक्षा की राह हुई आसान
प्रदेश में छात्रसंघ चुनाव कराने का फैसला
उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया का दौरा कार्यक्रम
शहरों में पदस्थ प्रोफेसर स्वैच्छा से एक साल के लिये विकाखण्ड-स्तर पर पढ़ायें
उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया का होगा सम्मान
युवा स्वामी विवेकानंद के विचारों को आत्मसात करें