| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

"नमामि देवि नर्मदे" - सेवा यात्रा

नर्मदा को भावी पीढ़ी के लिए सहेजने का संकल्प ले समाज

डिण्डौरी जिले के रूसामाल गाँव में हुए जन-संवाद में मंत्री श्री धुर्वे 

भोपाल : शुक्रवार, मई 5, 2017, 16:41 IST

'नमामि देवि नर्मदे''-सेवा यात्रा आज डिण्डौरी जिले में अपने अंतिम पड़ाव में रूसामाल गाँव पहुँची। विगत 28 अप्रैल को जिले में प्रवेश करने के बाद 33 गाँव में यात्रा पहुँची। यात्रा 6 मई को दूधी शेष घाट गाँव से अनूपपुर जिले में प्रवेश करेगी। जिले के गाँवों में यात्रा का भव्य स्वागत कर ग्रामीणों ने नर्मदा नदी को स्वच्छ एवं प्रदूषणमुक्त बनाये रखने का संकल्प लिया।

यात्रा के भैंसलगान, लुटगाँव और उदरी होकर रूसामाल पहुँचने पर हुए जन-संवाद में खाद्य-नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे ने निरतर कम हो रहे जल-स्तर पर चिंता व्यक्त करते हुए समाज का आव्हान किया कि नर्मदा नदी को भावी पीढ़ी के लिए सहेजने का संकल्प लें। उन्होंने वन सम्पदा और जल की कमी को प्रकृति के लिए हानिकारक बताया। वृक्ष काटने और नदी के किनारे तक खेती करने से उसके अस्तित्व को खतरा पैदा हो गया है। नर्मदा नदी को बहु-उपयोगी बताते हुए उन्होंने कहा कि नर्मदा यात्रा साधारण नहीं, बल्कि समाज सेवा का अदभुत उदाहरण है। जिले में जल-संकट की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि गाँवों के सर्वे के बाद एक-एक गाँव में नर्मदा जल पहुँचाया जायेगा। अभी 22 गाँव में पाइप द्वारा जल पहुँचना शुरू हो गया है।

श्री धुर्वे ने बताया कि इस साल जिले के प्रत्येक गाँव में तालाब बनाया जायेगा। आगामी 2 जुलाई को नर्मदा के दोनो तट के किनारे पौध-रोपण होगा। उन्होंने किसानों से फलदार वृक्ष के पौधे लगाने की बात भी कही तथा बताया कि इससे उनकी आय के साथ नर्मदा का जल-स्तर भी बढ़ेगा। श्री धुर्वे ने आकर्षक लोक-नृत्य की प्रस्तुति के लिए बैगा लोक नृतक दल को पुरूस्कृत किया। उन्होंने नर्मदा नदी को स्वच्छ रखने, वृक्षारोपण और नशामुक्ति के लिए ग्रामीणों को संकल्प दिलवाया।

प्रारम्भ में रूसामाल पहुँचने पर ग्रामीणों ने यात्रा का स्वागत किया। सिर पर कलश लेकर बड़ी संख्या में महिलाओं ने अगवानी की। नर्मदा कलश एवं ध्वज का पूजन कर आरती की गई। कार्यक्रम में यात्रा के जिला संयोजक श्री जय सिंह मरावी, सर्वश्री दीपक खम्परिया, दिनेश बर्मन, रवि बर्मन सहित अनेक जन-प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

ग्राम भैंसलगान में डॉ. शिवराज शाह ने किया जन-संवाद

गुरूवार को डिण्डौरी जिले के ग्राम लुकामपुर में रात्रि विश्राम करने के बाद 'नमामि देवि नर्मदे''-सेवा यात्रा अपने अगले पड़ाव की ओर चल पड़ी। यात्रा की अगुवाई आदिवासी वित्त-विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. शिवराज शाह कर रहे थे। यात्रा के गाँव-गाँव पहुँचने पर ग्रामीणों ने पुष्प-मालाओं एवं कलश-यात्रा के साथ स्वागत किया। लोक-नृत्य एवं लोक-गीत की प्रस्तुति दी गई।

ग्राम भैंसलगान में डॉ. शाह ने कहा कि नर्मदा नदी के जल-प्रवाह को बढ़ाने तथा जल को साफ एवं स्वच्छ रखनें के लिए नदी का संरक्षण एवं संवर्धन करना जरूरी है। उन्होंने ग्रामीणों को सलाह दी कि नदी के तट के किनारे अनिवार्य रूप से वृक्षारोपण करें। नदी में कूड़ा-करकट या पूजन-सामग्री न डाले।

अध्यक्ष डॉ. शाह ने जन-संवाद में वृक्षारोपण, जल-संरक्षण, स्वच्छता, नशामुक्ति, बेटी-बचाओ अभियान, शिक्षा इत्यादि विषय पर जानकारी दी। उन्होंने नर्मदा नदी के सरंक्षण एवं संवर्धन की शपथ भी दिलवाई। कार्यक्रम में डॉ. सुनील जैन, साध्वी प्रज्ञा भारती, श्री राजेन्द्र पाठक, जन-अभियान परिषद के जिला संयोजक श्री जय सिंह मरावी, सहित साधु-संत, समाज-सेवी और ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Youtube
 
समाचारो की सूची