| اردو خبریں | संस्कृत समाचारः मुख्य पृष्ठ | हिन्दी | English | संपर्क करें | साइट मेप
You Tube
पिछला पृष्ठ

"नमामि देवि नर्मदे"-सेवा यात्रा

आगामी पीढ़ियों का हित संवर्धन निहित है यात्रा में - मुख्यमंत्री श्री चौहान

डिंडौरी के शाहपुर में मुख्यमंत्री के साथ फिल्म अभिनेता श्री गोविंदा भी शामिल हुए जनसंवाद में 

भोपाल : सोमवार, मई 1, 2017, 14:20 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज डिंडौरी जिले के शाहपुर में नर्मदा सेवा यात्रा में शामिल हुए। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री विनय सहस्त्रबुद्धे, महामंत्री श्री रामलाल, प्रदेश के खाद्य-नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे, पत्रिका समाचार-पत्र के समूह सम्पादक श्री गुलाब कोठारी, दीनदयाल शोध संस्थान के अध्यक्ष श्री अजय महाजन, पूर्व सांसद तथा फिल्म अभिनेता श्री गोविन्दा, जर्मन मूल की टी.वी. कलाकार सुश्री सुजैन बर्नर्ट भी आज यात्रा और जन-संवाद में शामिल हुए।

जन-संवाद में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री का दायित्व वर्तमान शासन संचालन तक सीमित नहीं है। भविष्य की पीढ़ियों के हित संरक्षण का विचार और तदनुसार कार्य भी हमारी जिम्मेदारी है। इस दायित्व बोध से ही नर्मदा सेवा यात्रा आरंभ की गई है। यात्रा के अंतर्गत वृक्षारोपण, नदी को स्वच्छ और पवित्र रखने के प्रयास और जन-जागरूकता से नर्मदा नदी को हम अगली पीढ़ियों के लिये भी जीवन दायिनी स्वरूप में सौंप पायेंगे। श्री चौहान ने कहा कि डिंडौरी जैसे सुदूर इलाके में राष्ट्रीय नेतृत्व, ख्यात अभिनेताओं और प्रतिष्ठित समाचार-पत्र के समूह संपादक का आना क्षेत्र में रहने वाले लोगों की नर्मदा माँ के प्रति आस्था और प्रतिबद्धता का सम्मान है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा के अंतर्गत शासन और समाज, समान उत्तरदायित्व के भाव से कार्य कर रहे हैं। उन्होंने उपस्थित जन-समुदाय को नदी जल की स्वच्छता बनाये रखने, वृक्षारोपण में भाग लेने और नशामुक्ति के लिये संकल्पित होने के लिये प्रेरित किया।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री विनय सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि नवाचारों के लिये प्रसिद्ध मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नदी संरक्षण के लिए शिव-धनुष हाथ में लिया है। यह लोकोन्मुखी अभियान, अकाल प्रभावित राज्यों के लिये अनुकरणीय है।

भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री श्री रामलाल ने कहा कि यह यात्रा गरीब किसान के हित, शहरों-गाँवों के स्वास्थ्य और धर्म संस्कृति के संवर्धन के लिए है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दलीय राजनीति और धर्म की सीमाओं से ऊपर उठकर इस यात्रा का आयोजन किया है। श्री रामलाल ने 2 जुलाई को हो रहे वृक्षारोपण की संख्या को दस करोड़ तक ले जाने का आव्हान किया।

यात्रा और जन संवाद में शामिल हुए पूर्व सांसद तथा 140 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके ख्यात अभिनेता श्री गोविंदा ने कहा कि माँ नर्मदा के प्रति राज्य शासन की संवेदनशीलता प्रशंसनीय है। श्री गोविंदा ने बताया कि उनकी बेटी का नाम नर्मदा है। बेटी का यह नामकरण उनके लिये भाग्यशाली और आनंददायी रहा।

पत्रिका समाचार -पत्र के समूह संपादक श्री गुलाब गोठारी ने कहा कि नर्मदा नदी के तटों पर सधन वृक्षारोपण से नदी की स्थिति के अलावा आस-पास के किसानों की आर्थिक समृद्धि में भी सुधार आयेगा। परिणामस्वरूप बीस-तीस साल बाद आने वाली पीढ़ी भी नर्मदा को माँ के स्वरूप में पायेगी। श्री कोठारी ने कहा कि बीज की नियति है कि वह दूसरों के भरण-पोषण के लिये ही होता है। इसके लिये इसे त्याग और समर्पण का पथ अपनाना पड़ता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान भी इस पथ पर अग्रसर होकर न केवल प्रदेश की जनता अपितु प्रकृति और पर्यावरण के कल्याण के लिये भी लगातार नि:स्वार्थ कार्यरत है।

जन-संवाद में साध्वी प्रज्ञा भारती, श्री अनुराग कृष्ण शास्त्री, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नागेश ठाकुर और भारतीय मजदूर संघ के श्री सुरेंद्रन ने भी जन-समुदाय को संबोधित किया।

Youtube
 
समाचारो की सूची